About Me

My photo
Dy.Commissiner VII UP SJAB Lucknow (India)

Followers

Saturday, March 6, 2010

नक़ली चेहरे
यूँ तो दुनिया में बहुत सारे है सुखनवर,
(पर ),,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
ग़ालिब का है अंदाज़े बयां कुछ और !

कहने वाले ने तो कह दिया .............
क्या मिलिए ऐसे लोगों से
जिनकी फितरत छुपी रहे
नक़ली चेहरा सामने आये
असली सूरत छुपी रहे !

आज से हम भी देखेंगे
क्या है असली ??????????????????
क्या है नक़ली ???????????????????

आपसे सहयोग की अपेक्षा के साथ !
आज इतना ही !
स्वागत
आचार्य

2 comments:

  1. जी...देखिये..पूरा जोर लगाकर देखिये....मुखोटो का संसार तो स्रष्टि के आगत से ही अवस्थित है...पर पहले ये खेल था..मनोरंजन था. और अब ये जीवन बना लिया है हमने.

    हर आदमी में होते हैं दस बीस आदमी,
    जिसको भी देखना है बार बार देखिये.

    ReplyDelete
  2. एक चेहरे पै कई चेहरे लगा लेते है लोग
    ठीक कहा आपने ,............
    बल्कि अबतो दिक्कत तो यही है की
    अधिकतर लोग मुखोटा पहने है सो .........
    बिना मुखोटा का चेहरा ही नक़ली लगने लगता है !

    ReplyDelete